Connect with us

Haryana

VIDEO NEWS – खट्टर के कार्यक्रम स्थल पर किसानों की तोड़फोड़, अशोक अरोड़ा बोले- आग से ना खेलें सीएम खट्टर

Published

on

किसानों ने खट्टर के कार्यक्रम स्थल पर की तोड़फोड़
मामले को लेकर कांग्रेस नेताओं ने दी अपनी प्रतिक्रिया
सुरजेवाला ने आसूं गैस और पानी छोड़ने पर की आलोचना
मुख्यमंत्री को कांग्रेस नेता अशोक अरोड़ा ने दी सलाह
कहा- आग से ना खेलें सीएम खट्टर

सत्यखबर हरियाणा

करनाल गांव कैमला में प्रदर्शनकारी किसानों ने ‘किसान महापंचायत’ के कार्यक्रम स्थल पर तोड़फोड़ की…जहां मुख्यमंत्री खट्टर लोगों को केंद्र के तीन कृषि कानूनों के फायदे बताने वाले थे…इससे पहले पुलिस ने कैमला गांव की ओर किसानों के मार्च को रोकने लिए उन पर पानी की बौछारें कीं और आंसू गैस के गोले छोड़े…प्रदर्शनकारी कार्यक्रम स्थल तक पहुंच गए और ‘किसान महापंचायत’ कार्यक्रम को बाधित किया…उन्होंने मंच को क्षतिग्रस्त कर दिया, कुर्सियां, मेज और गमले तोड़ दिए….किसानों ने अस्थायी हेलीपेड का नियंत्रण भी अपने हाथ में ले लिया जहां मुख्यमंत्री का हेलीकॉप्टर उतरना था…

वहीं अब इस मामले को लेकर कांग्रेस प्रदेश सरकार पर हमलावर हो गई है…जिसके चलते कांग्रेस नेता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने किसानों पर पानी की बौछारें छोड़ने और आंसू गैस के गोले दगवाने के लिए मुख्यमंत्री खट्टर की आलोचना की..तो कुरुक्षेत्र से कांग्रेस नेता अशोक अरोड़ा ने सरकार को आड़े हाथों लेते हुए मुख्यमंत्री को आग से ना खेलने की सलाह दे डाली…उन्होंने कहा कि इस तरह के कार्यक्रम सरकार जानबूझकर कर रही है ताकि आंदोलन कमजोर हो सके और किसान जो है वो बंट जाएं उन्होंने कहा कि भाजपा के नेता पहले भी किसानों के बारे में काफी कुछ बोल चुके हैं वो सरकार से अपील करते हैं कि अगर सरकार राज धर्म नहीं निभा सकती तो कम से कम मानवता धर्म निभाते और इन किसानों की बात सुन ले

बता दें कि भारतीय किसान यूनियन के तत्वावधान में किसानों ने पहले घोषणा की थी कि वो ‘किसान महापंचायत’ का विरोध करेंगे। वो तीन कृषि कानूनों को रद्द करने की मांग कर रहे हैं…फिलहाल कांग्रेस नेता अशोक अरोड़ा ने कहा कि आने वाली 15 तारीख को सभी राजभवन जो है कांग्रेस पार्टी के द्वारा उनका घेराव किया जाएगा और इन काले कानूनों का विरोध किया जाएगा..

8 Comments

8 Comments

  1. Pingback: पंचकूला में 3700 मुर्गियों को मारकर दबाया,जींद-सफीदों रोड पर गांव बहादुरगढ़ के पास सड़क किनारे हजार

  2. Pingback: इस्तीफा देने से किसानों की मांग मानी जाती है तो वो इसके लिए तैयार: रामकरण काला – Satya khabar india | Hindi News | न्य

  3. Pingback: चरखी दादरी : इंतकाल दर्ज करने के नाम पर ढाई हजार रुपये की रिश्वत लेने का मामला आया सामने – Satya khabar india |

  4. Pingback: सिंघू बॉर्डर पर धरने के दौरान किसानों के खाने का बदला स्वाद आज बनी ये चीज, कल बनेगी ये डिश – Satya khabar ind

  5. Pingback: कैमला गांव में महापंचायत में हंगामा करने के मामले में भाकियू के प्रदेशाध्यक्ष गुरनाम सिंह चढ़ून

  6. Pingback: किसान आन्दोलन : किसानों की संख्या खटकड़ टोल लगातार बढ़ रही – Satya khabar india | Hindi News | न्यूज़ इन हिंदी | Breaking News in Hindi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *