Connect with us

Chandigarh

जेजेपी के लिए रविवार बना सुपर संडे, दुष्यंत ने की ताबड़तोड़ 6 सुपर रैलियां

Published

on

सत्यखबर चंडीगढ़, (ब्यूरो रिपोर्ट) – रविवार का दिन जननायक जनता पार्टी के लिए सुपर संडे रहा। आज जेजेपी के वरिष्ठ नेता एवं पूर्व सांसद दुष्यंत चौटाला ने जेजेपी उम्मीदवारों के लिए ताबड़तोड़ चुनाव प्रचार करते हुए छह सुपर रैलियों को संबोधित किया। इस दौरान दुष्यंत चौटाला सीएम मनोहर लाल के गृह जिले करनाल में इंद्री व घरौंडा हलके में दहाड़े तो वहीं खरखौदा, पानीपत ग्रामीण, पिहोवा और थानेसर विधानसभा क्षेत्र में भी विशाल रैलियों को संबोधित करते हुए जेजेपी प्रत्याशियों के लिए जनता से वोट की अपील की। वहीं सभी रैलियों में उमड़े जनसैलाब को देखकर दुष्यंत चौटाला ने कहा कि अब चंडीगढ़ दूर नहीं है और 21 अक्टूबर को जनता प्रदेश में बदलाव लाते हुए जजपा के चुनाव चिन्ह चाबी का बटन दबाकर सत्ता के अहंकार में डूबी भाजपा को सबक सिखाएगी।

वरिष्ठ जेजेपी नेता दुष्यंत चौटाला ने जेजेपी प्रत्याशियों के समर्थन में आयोजित रैलियों को संबोधित करते हुए कहा कि जननायक जनता पार्टी जमीन से जुड़े हुए लोगों की पार्टी है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में बेरोजगारी कैसे कम होगी, इसके लिए पार्टी के पास विजन भी है और इसे धरातल पर उतानने के लिए मास्टर प्लान भी है। उन्होंने कहा कि जेजेपी की सरकार बनने पर सरकारी नौकरी के लिए आवेदन के लिए कोई फीस नहीं ली जाएगी। उन्होंने कहा कि फीस के नाम पर बेरोजगारों की जेब पर आर्थिक बोझ डालना न्यायसंगत नहीं है।

उन्होंने कहा कि नौकरी के लिए परीक्षाओं के आयोजन भी अपने ही गृह जिले में होगा तथा पूर्ण रूप से पारदर्शिता बरती जाएगी। उन्होंने कहा कि हर शहर कस्बे में रोजगार मेले लगाए जाएंगे और इन रोजगार मेलों में युवकों की योग्यता के अनुसार रोजगार प्रदान किए जाएंगे। दिल्ली, गुरुग्राम जैसे बड़े शहरों में युवाओं के लिए छात्रावास खोले जाएंगे। वहीं ग्रामीण क्षेत्र के युवाओं के लिए सरकारी नौकरियों में 10 प्रतिशत अतिरिक्त अंक प्रदान किए जाएंगे।

सीएम सिटी करनाल में दहाड़ते हुए दुष्यंत चौटाला ने कहा कि अब झूठे व अहंकारियों से निपटाने का समय है। युवाओं के रोजगार के मुद्दे पर बोलते हुए दुष्यंत चौटाला ने कहा कि मुख्यमंत्री बाहरी व्यक्ति की नियुक्तियों को लेकर कम से कम जनता के सामने सफेद झूठ न बोले। उन्होंने कहा कि ओएसडी से लेकर सरकारी नौकरियों में एसडीओ तक, विश्वविद्यालय के कुलपति के पदों से लेकर चपरासी तक हरियाणा से बाहर के लोगों की नियुक्ति कर दी है

वहीं दुष्यंत चौटाला ने कहा कि भाजपा सरकार ने नौकरियों में पारदर्शिता के नाम पर बेरोजगार युवकों को धोखा दिया है। उन्होंने कहा कि भाजपा ने हरियाणा प्रदेश के विभिन्न विभागों में ठेकेदारी प्रथा के लिए 20 कंपनियों की अनुशंसा की थी और इस सीएम ने इसकी मंजूरी प्रदान की थी।