Connect with us

Haryana

यदि पति आधार है तो पत्नी उसकी आधारशक्ति है- राजेन्द्र महाराज

सत्यखबर, नरवाना (सन्दीप श्योरान) :- श्री सिद्धि विनायक सेवा समिति के तत्वाधान में आयोजित तृतीय गणपति उत्सव एवं श्रीमद् भागवत कथा के सातवें दिन मुख्य यजमान के रूप में समिति के प्रधान नरेश जैन, सतीश बंसल, देवीराम गर्ग, जयपाल बंसल तथा महेंद्र गोयल सपरिवार शामिल हुए। कथा वाचक आचार्य राजेंद्र महाराज ने भगवान के सोलह […]

Published

on

सत्यखबर, नरवाना (सन्दीप श्योरान) :- श्री सिद्धि विनायक सेवा समिति के तत्वाधान में आयोजित तृतीय गणपति उत्सव एवं श्रीमद् भागवत कथा के सातवें दिन मुख्य यजमान के रूप में समिति के प्रधान नरेश जैन, सतीश बंसल, देवीराम गर्ग, जयपाल बंसल तथा महेंद्र गोयल सपरिवार शामिल हुए। कथा वाचक आचार्य राजेंद्र महाराज ने भगवान के सोलह हजार एक सौ आठ विवाह की कथा का वर्णन करते हुए कहा कि स्त्री के लिए उसका पति ही परमेश्वर होता है, एक पतिव्रता स्त्री अपने पति व्रत के तप से व बल से जलती हुई अग्नि को भी शीतल कर सकती है। विवाह के पश्चात् पत्नी ही पति को धर्म के मार्ग पर अग्रसर कर सकती है इसलिए पत्नी को धर्मपत्नी कहकर संबोधित किया जाता है। यदि पति आधार है तो पत्नी उसकी आधारशक्ति है। महाराज ने सुदामा चरित्र का वर्णन करते हुए कहा कि हजार मित्र बनाने से अच्छा है एक ही मित्र बनाएं जिसकी मित्रता सुदामा जैसी होनी चाहिए। समिति के महासचिव विनोद मंगला ने बताया कि शुक्रवार को हवन यज्ञ के साथ श्रीमद् भागवत कथा का समापन होगा और विशाल भंडारा लगाया जाएगा। दोपहर बाद विशाल शोभा यात्रा के साथ सिरसा ब्रांच नहर में गणपति का विसर्जन किया जाएगा। इस अवसर पर प्रधान नरेश जैन, विद्या रानी दनौदा, हंसराज समैण, राजीव गर्ग, विनोद मंगला, सतीश बंसल, कैलाश सिंगला, राकेश शर्मा, जयपाल बंसल, धर्मपाल गर्ग, बलभद्र गोयल डा. श्याम लाल सहित अनेक श्रद्धालु उपस्थित थे।
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *