Connect with us

Assandh

शास्त्रों में दी गई है त्रिवेणी को स्थाई यज्ञ की संज्ञा : नेहा राठी

त्रिवेणी लगाकर महिला पुलिस थाना की नवनियुक्त प्रभारी ने संभाला कार्यभार असंध :रोहताश वर्मा । समाधानांचल की राष्ट्रीय अध्यक्षा एडवोकेट संतोष यादव द्वारा चलाए जा रहे त्रिवेणी लगाने के अभियान को आगे बढ़ाते हुए आज असंध महिला थाना की नवनियुक्त प्रभारी श्रीमती नेहा राठी ने 213वीं त्रिवेणी लगाकर अपना कार्यभार संभाला। इस अवसर पर असंध […]

Published

on

त्रिवेणी लगाकर महिला पुलिस थाना की नवनियुक्त प्रभारी ने संभाला कार्यभार
असंध :रोहताश वर्मा ।
समाधानांचल की राष्ट्रीय अध्यक्षा एडवोकेट संतोष यादव द्वारा चलाए जा रहे त्रिवेणी लगाने के अभियान को आगे बढ़ाते हुए आज असंध महिला थाना की नवनियुक्त प्रभारी श्रीमती नेहा राठी ने 213वीं त्रिवेणी लगाकर अपना कार्यभार संभाला। इस अवसर पर असंध महिला थाना प्रभारी श्रीमती नेहा राठी ने समाधानांचल के पदाधिकारियों के साथ मिलकर बड़, नीम और पीपल की त्रिवेणी लगाई और त्रिवेणी से होने वाले लाभों के बारे में अवगत करवाया।
इस अवसर पर अपने सम्बोधन में श्रीमती नेहा राठी ने कहा कि ये त्रिवेणी एक साधारण वृक्ष न होकर इसका अध्यात्मिक महत्व है। त्रिवेणी को शास्त्रों में स्थाई यज्ञ की संज्ञा दी गई है। जिस तरह से आज हमारे देश का पर्यावरण लगातार प्रदूषित होता जा रहा है, ऐसें में त्रिवेणी लगाना बहुत ही आवश्यक हो गया है। आज बिगड़ते पर्यावरण को बचाने में त्रिवेणी की अहम भूमिका रही है। उन्होंने कहा कि हर इंसान को अपने जीवन में कम से कम एक त्रिवेणी अवश्य लगानी चाहिए।  जैसे-जैसे त्रिवेणी बढ़ती है वैसे ही आपकी सुख-स्मृद्धि भी बढ़ेगी और आपके सभी कष्ट स्वत: मिट जाएंगे। उन्होंने कहा कि हमें अपने कीमती समय में से थोड़ा सा समय निकालकर सामाजिक कार्यों में लगाना चाहिए। त्रिवेणी लगवाते हुए उन्होंने कहा कि त्रिवेणी पर्यावरण के प्रति प्रत्येक व्यक्ति को अपनी प्रतिबद्धता का चिंतन करने का संदेश देती है।
इस अवसर पर इनेलो नेता प्रेम सिंह शाहपुर ने कहा कि जहां त्रिवेणी लगी होती है वहां हर पल हर क्षण सकारात्मक ऊर्जा का प्रवाह चलता रहता है। हर वह सांस जो श्रद्धाभाव से अध्यात्मिक भाव से इस त्रिवेणी को लगाता है या लगवाता है या फिर इसका पालन पोषण करता है उसका कोई भी सात्विक कर्म विफल नहीं जाता। उन्होंने कहा कि त्रिवेणी में सभी देवी-देवताओं एवं पितरों का वास माना जाता है। दूसरी ओर ये तो पर्यावरण की लड़ाई है और न्याय की लड़ाई है इसे हम मानते हैं कि वन, जलवायु और पर्यावरण सभी के सांझे सरोकार है और मेरे विचारों से इन सांझे सरोकारों का निबाह करने के लिए ही हमने त्रिवेणी लगाने की मुहिम छेड़ी हुई है।
इनेलो नेता रामदयाल बलड़ी ने कहा कि त्रिवेणी हमें अपनी जड़ों से जुड़े रहने का संदेश देती है और आने वाली भावी पीढ़ी के लिए भी वरदान साबित होगी। यदि वृक्षों का संरक्षण और नये पौधों का रोपण नहीं किया गया तो हमारी आने वाली पीढिय़ा शुद्ध वायु के लिए तरस जाएंगी। हर इंसान के थोड़े-थोड़े योगदान से एक बड़ी चीज का निर्माण होता है। उन्होंने कहा कि रातों-रात कुछ नहीं बदलता और न ही बदला जा सकता है। एक बीज बोते हैं तो उसे बढऩे में समय तो लगता ही है। दूसरों की भलाई के लिए जो सांसे हमने जी हैं वही असल में जिंदगी है इसलिए पर्यावरण के प्रति हमें कटिबद्ध हो जाना चाहिए। इस अवसर पर कांस्टेबल सुशीला, एडवोकेट रविन्द्र, ऋषि जाणी, एडवोकेट दीपक, गुरताज विर्क, मनीष कादियान, मोंटी शाहपुर सहित कई महिला पुलिस कर्मचारी उपस्थित रही।

2 Comments

2 Comments

  1. Pingback: microsoft exchange

  2. Pingback: carpet cleaning service royston

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *