Connect with us

Safidon

बाजार में बिकती हुई पकड़ी गई सरकारी गेंहू की ट्राली

Published

on

सत्यखबर सफीदों

नगर की नई अनाज मंडी के पास सरकारी गेंहू से भ्भरी एक ट्राली बिकती हुई पकड़ी गई है। इस संबंध में पुलिस ने हरियाणा वेयरहाऊसिंग कारपोरेशन के प्रबंधक की शिकायत पर मामला दर्ज किया है। पुलिस को दी शिकायत में हरियाणा वेयरहाउसिंग कारपोरेशन के प्रबंधक सुमित शर्मा ने कहा है कि वेयरहाऊसिंग कारपोरेशन द्वारा खरीदा गया गेंहू हाट रोड़ सनमती राईस मिल में किराए पर जगह लेकर ओपन प्लीन्थ पर लगाया हुआ है। इस राईस मिल में रखी गई करीब 15 हजार गेहूं की बोरियां यहां से मालगाड़ी में भरकर जा चुकी थी।

बोरियों के नीचे पड़े खराब गेंहू को धर्मगढ़ रोड स्थित गोदाम में शिफ्ट करने के लिए ट्रैक्टर-ट्राली में भरवाकर उसका गेटपास काटकर चौकीदार नीतीश को देकर वह गाडिय़ों को लोडिंग करवाने के लिए दूसरे गोदाम में चला गया था। कुछ देर बाद उसे पता चला कि चौकीदार नीतिश ने विभाग से धोखाधड़ी करके पल्लेदारों के साथ मिलकर गेंहू से भरी ट्राली को अनाज मंडी में बेच रहे हैं।

डॉ. अजय सिंह चौटाला बने जेजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष, कार्यकारिणी ने लिया फैसला

प्रबंधक ने पुलिस से चौकीदार नीतिश व अन्य पल्लेदारों के खिलाफ सरकारी गेहूं के गबन व चोरी के गेहूं बेचने को लेकर कार्रवाई की मांग की। शिकायत के आधार पर पुलिस ने भारतीय दंड संहिता की विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज करके जांच आरंभ कर दी है। सिटी थाना प्रभारी देवीलाल ने बताया कि पुलिस ने नई अनाज मण्डी मे इस गेहूं को एक दुकानदार को बेचते हुए पुलिस ने ट्रैक्टर चालक को पकड़ा है। शिकायत के आधार पर मामला दर्ज कर लिया गया है।

एफसीआई में खड़े गेंहू से लदे 3 ट्रक बने चर्चा का विषय
एक तरफ तो सरकारी एजेंसी वेयरहाऊसिंग कारपोरेशन के गेंहू की ट्राली बाजार में बिकती हुई पकड़ी गई। वहीं दूसरी ओर नगर के हाट रोड़ पर स्थित एफसीआई गोदाम में पिछले कई दिनों से गेंहू की बोरियों से भरे ख्खड़े 3 ट्रक भ्भी यहां चर्चा का विषय बने हुए है। इस चर्चाओं के बीच कोई बड़े गोलमाल की आशंकाएं जताई जा रही है। ये तीनों ट्रक मालगाड़ी क्यों नहीं लदे और लदे नहीं तो ये कई दिनों से एफसीआईम् में क्यों खड़े है इसका कोई खास जवाब किसी के पास नहीं है। करीब 16 लाख रूपए की कीमत के गेंहू खड़े ट्रकों को लेकर एफ.सी.आई. व हैफेड के अधिकारी गुणवत्ता सही नहीं होने की बात कह रहे हैं।

हरियाणा में सरपंचों से पहले सांसद और विधायकों पर लागू हो राइट टू रिकॉल- हुड्डा

मिली जानकारी के अनुसार नगर के रेल यार्ड मे पहुंची विशेष रेल मालगाड़ी में लदान को लेकर एफसीआई की मांग पर यहां के धर्मगढ़ रोड पर स्थित हैफेड एजैंसी के एक गोदाम से निकाले गए 3 ट्रकों में भरकर लाए 1500 कट्टे मालगाड़ी में नहीं लादे गए। इन तीनों ट्रकों को रेल यार्ड के समीप ही स्थित एफसीआई गोदाम में लाकर खड़ा कर दिया गया। निगम के ट्रांसपोर्ट ठेकेदार ने इन्हें वापस हैफेड गोदाम मे ले जाने से इंकार कर दिया है। निगम डिपो प्रबंधक अमरजीत का कहना है कि गेहूं उनके डिपो मे सुरक्षित है और उच्चाधिकारियों से मार्गदर्शन मांगा गया है।

अमरजीत ने बताया कि केद्रिंय पूल की गेहूं को शनिवार यहां पहुंची विशेष मालवाहक रेलगाड़ी मे लदान कर भेजा जाना था और तीन ट्रकों में लदी यह खेप इसलिए नहीं भेजी जा सकी क्योंकि इस गेहूं को हैफेड के कर्मियों ने उनकी निगम के गुणवत्ता कर्मी से चैक कराए बिना उनकी गैरहाजरी में ट्रकों में लोड कराया था। उधर हैफेड के गोदाम प्रभारी सुमीत शर्मा का कहना है कि इन ट्रकों की लोडिंग रूटीन मे हुई थी। उन्होंने तो गेहूं निगम को दे दी है जिसे निगम वापस उनके गोदाम मे भेजेगी तो भण्डार मे जमा कर दी जाएगी लेकिन अभी तक इस गेहूं के मालगाड़ी मे लोड ना होने या वापस उनके गोदाम मे ना भेजे जाने का कोई कारण उन्हें निगम की तरफ से नहीं बताया गया है।